Total Ramsar sites in India 2024 Hindi UPSC GK PDF | भारत के 75 रामसर स्थल

Ramsar Sites in India – वर्तमान में भारत में कुल 75 रामसर स्थल (Ramsar Sites) हैं| वर्ष 1981 में भारत के पहले रामसर स्थल के रूप में ओडिशा की चिल्का झील व राजस्थान के केवलादेव पक्षी अभ्यारण्य को शामिल किया गया था| भारत में वर्ष 2019 में 11, वर्ष 2020 व 2021 में 5-5 तथा वर्ष 2022 में कुल 28 नए आर्द्रभुमियों को रामसर साइट की सूची (Ramsar Sites) में शामिल किया गया, जिससे इनकी कुल संख्या बढ़कर 75 हो गई है| इस आर्टिकल में हम भारत के सभी 75 रामसर साइट्स (Ramsar Sites) के बारे में पढेंगे| अगर आप किसी भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो पूरा आर्टिकल जरुर पढ़िए|

Wetlands

आर्द्रभूमि – एक आर्द्रभूमि एक ऐसी जगह है जिसमें भूमि खारे या ताजा जल में डूबी हुई या संतृप्त होती है। यह अपने स्वयं के विशिष्ट पारिस्थितिकी तंत्र के रूप में कार्य करता है। आप मुख्य रूप से गीली मिट्टी के अनुकूल वनस्पति द्वारा अन्य प्रकार की भूमि या पानी के निकायों से आर्द्रभूमि को पहचान सकते हैं

Importance of Wetlands

आर्द्रभुमियों का महत्त्व – आर्द्रभुमियां विभिन्न प्राकृतिक चक्रों को बनाए रखने और जैव विविधता की एक विस्तृत श्रृंखला का समर्थन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे बाढ़ और सूखे के खिलाफ एक प्राकृतिक स्पंज के रूप में काम करते हैं, हमारी तटरेखाओं की रक्षा करते हैं और जलवायु परिवर्तन से लड़ने में मदद करते हैं।

Ramsar Convention

रामसर समझौता – रामसर अभिसमय अंतर्राष्ट्रीय महत्व की आर्द्रभूमियों, विशेषकर पशु पक्षियों के प्राकृतिक आवास, से संबंधित एक अभिसमय है। यह आर्द्रभूमियों के सतत प्रयोग और संरक्षण को सुनिश्चित करने वाली एक अंतर्राष्ट्रीय संधि है। प्रत्येक वर्ष 2 फरवरी को पूरे विश्व में ‘विश्व आर्द्रभूमि दिवस’ मनाया जाता है।

  • रामसर अभिसमय को जिसे आर्द्रभूमि अभिसमय के रूप में भी जाना जाता है| 2 फ़रवरी 1971 को ईरान देश के रामसर शहर में हस्ताक्षरित एक पर्यावरण सम्मेलन है। इस समझौते के प्रावधानों को 21 दिसंबर, 1975 को लागू किया गया था|
  • वर्ष 1971 में रामसर समझौते में 7 देश शामिल थे, जिनकी संख्या वर्तमान में बढ़कर 171 हो गयी है| भारत आधिकारिक तौर पर 1 फ़रवरी, 1982 को रामसर समझौते में शामिल हुआ था|
  • वर्ष 1974 में विश्व के पहले रामसर साइट के तौर पर ऑस्ट्रेलिया के कोबोर्ग प्रायद्वीप को शामिल किया गया था|

Total Ramsar Sites in India List

भारत के 75 रामसर स्थलों की सूची – भारत के सभी रामसर स्थलों की सूची, उनके राज्य व शामिल किये जाने का वर्ष निम्नलिखित सारणी में दिया गया है|

क्र. सं.रामसर स्थलराज्यवर्ष
1.चिल्का झीलओडिशा1981
2.केवलादेव पक्षी अभ्यारण्यराजस्थान1981
3.लोकटक झीलमणिपुर1990
4.वुलर झीलजम्मू-कश्मीर1990
5.हरिके आर्द्रभूमिपंजाब1990
6.सांभर झीलराजस्थान1990
7.कांजली झीलपंजाब2002
8.रोपड़ आर्द्रभूमिपंजाब2002
9.कोलेरु झीलआंध्र प्रदेश2002
10.दीपोर बीलअसम2002
11.पोंग बांध झीलहिमाचल प्रदेश2002
12.त्सो मोरिरी झीललद्दाख2002
13.अष्टमुडी झीलकेरल2002
14.सस्थमकोट्टा झीलकेरल2002
15.वेम्बानद झीलकेरल2002
16.भोज आर्द्रभूमिमध्य प्रदेश2002
17.भितरकनिका मैंग्रोवओडिशा2002
18.प्वाइंट कैलिमेर पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु2002
19.पूर्व कोलकाता आर्द्रभूमिपश्चिम बंगाल2002
20.चंद्र ताल आर्द्रभूमिहिमाचल प्रदेश2005
21.रेणुका आर्द्रभूमिहिमाचल प्रदेश2005
22.होकेरा आर्द्रभूमिजम्मू और कश्मीर2005
23.सुरिसर-मनसर झीलजम्मू और कश्मीर2005
24.रुद्रसागर झीलत्रिपुरा2005
25.ऊपरी गंगा नदी (ब्रजघाट से नरौरा तक)उत्तर प्रदेश2005
26.नलसरोवर पक्षी अभयारण्यगुजरात2012
27.सुंदरबनपश्चिम बंगाल2019
28.नंदुर मधमेश्वर झीलमहाराष्ट्र2019
29.नवाबगंज पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश2019
30.केशोपुर मियानी कम्युनिटी रिजर्वपंजाब2019
31.ब्यास संरक्षण रिजर्वपंजाब2019
32.नांगल वन्यजीव अभयारण्यपंजाब2019
33.सैंडी पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश2019
34.समसपुर पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश2019
35.समन पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश2019
36.पार्वती अर्गा पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश2019
37.सरसई नवर झीलउत्तर प्रदेश2019
38.आसन संरक्षण रिजर्वउत्तराखंड2020
39कंवर तालबिहार2020
40.लोनार झीलमहाराष्ट्र2020
41.सुर सरोवर/कीथम झीलउत्तर प्रदेश2020
42.त्सो कर आर्द्रभूमिलद्दाख2020
43.सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यानहरियाणा2021
44.भिंडवास वन्यजीव अभ्यारण्यहरियाणा2021
45.थोल झील वन्यजीव अभ्यारण्यगुजरात2021
46.वधावन आर्द्रभूमि क्षेत्रगुजरात2021
47.हैदरपुर आर्द्रभूमिउत्तर प्रदेश2021
48.खिजड़िया पक्षी अभयारण्यगुजरात2022
49.बखिरा वन्यजीव अभयारण्यउत्तर प्रदेश2022
50.करिकली पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु2022
51.पल्लीकरानई मार्श रिजर्व फॉरेस्टतमिलनाडु2022
52.पिचावरम मैंग्रोवतमिलनाडु2022
53.पाला आर्द्रभूमिमिजोरम2022
54.साख्य सागरमध्य प्रदेश2022
55.कूथनकुलम पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु2022
56.मन्नार की खाड़ी समुद्री बायोस्फीयर रिजर्वतमिलनाडु2022
57.वेम्बान्नूर आर्द्रभूमि कॉम्प्लेक्सतमिलनाडु2022
58.वेल्लोड पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु2022
59.वेदान्थंगल पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु2022
60.उदयमार्तंडपुरम पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु2022
61.सीरपुर आर्द्रभूमिमध्य प्रदेश2022
62.सतकोसिया गॉर्जओडिशा2022
63.नंदा झीलगोवा2022
64.रंगनथिट्टू पक्षी अभयारण्यकर्नाटक2022
65.यशवंत सागरमध्य प्रदेश2022
66.ठाणे क्रीकमहाराष्ट्र2022
67.हाइगम आर्द्रभूमि संरक्षण रिजर्वजम्मू और कश्मीर2022
68.शालबुग आर्द्रभूमि संरक्षण रिजर्वजम्मू और कश्मीर2022
69.टम्पारा झीलओडिशा2022
70.हीराकुड रिजर्वओडिशा2022
71.अनसुपा झीलओडिशा2022
72.चित्रांगुडी पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
73.सुचिंद्रम थेरूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्सतमिलनाडु2022
74.वडावुर पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
75.कांजीरंकुलम पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022

 Ramsar Sites in India GK Questions

Question – भारत में रामसर साइट कितनी है 2023?

Answer – जून 2023 तक भारत में कुल रामसर स्थलों की संख्या 75 हैं तथा वर्ष 2022 में सर्वाधिक 28 स्थलों को इस सूची में शामिल किया गया|

Question – भारत की पहली रामसर साइट कौन सी है?

Answer – अक्टूबर 1981 में उड़ीसा में स्थित चिल्का झील और राजस्थान में स्थित केवलादेव पक्षी अभ्यारण्य को भारत के पहले रामसर स्थल के रूप में मान्यता दिया गया|

Question – भारत का सबसे बड़ा रामसर स्थल कौन सा है ?

Answer – पश्चिम बंगाल में स्थित सुंदरबन डेल्टा क्षेत्र भारत का सबसे बड़ा रामसर स्थल है| इसका कुल क्षेत्रफल लगभग 4230 वर्ग किमी है तथा इसे वर्ष 2019 में रामसर साइट के रूप में मान्यता गई दी ।

Question – भारत का सबसे छोटा रामसर स्थल कौन सा है?

Answer – भारत का सबसे छोटा रामसर साइट हिमाचल प्रदेश में स्थित रेणुका आर्द्रभूमि क्षेत्र है| इसका कुल क्षेत्रफल 0.2 वर्ग किमी है| इसे वर्ष 2005 में रामसर साइट के रूप में घोषित किया गया था|

Question – भारत में सबसे ज्यादा रामसर स्थल (Ramsar Sites) किस राज्य में स्थित हैं?

Answer – भारत में सबसे रामसर साइट तमिलनाडु राज्य में है| वर्तमान समय में तमिलनाडु में कुल 14 आर्द्रभूमि क्षेत्र है|

Question – वर्ष 2022 में भारत में कितनी आर्द्रभूमियों को रामसर साइट का दर्जा दिया गया है?

Answer – रामसर कन्वेंशन के तहत वर्ष 2022 में भारत के 28 नये आर्द्रभुमियों को रामसर साइट (Ramsar Sites) का दर्जा दिया गया | 10 आर्द्रभुमियों को 3 अगस्त 2022 तथा 11 आर्द्रभूमियों को 13 अगस्त 2022 को भारत के रामसर साइट्स की सूची में शामिल किया गया ।

Question – किस वर्ष रामसर सम्मेलन का आयोजन तथा उस पर हस्ताक्षर किया गया था?

Answer – 2 फरवरी 1971 को कैस्पियन सागर के तट पर स्थित ईरान के रामसर शहर में रामसर सम्मेलन का आयोजन किया गया था तथा इसे 21 दिसंबर 1975 को लागू किया गया था|

Question – किस वर्ष भारत ने रामसर समझौते पर हस्ताक्षर किया था?

Answer – भारत ने 1 फ़रवरी, 1982 को आधिकारिक तौर पर रामसर समझौते में शामिल हुआ।

Question – विश्व के पहला रामसर साइट के रूप में किसे घोषित किया गया था?

Answer – ऑस्ट्रेलिया में स्थित कोबोर्ग प्रायद्वीप को सन् 1974 में विश्व का पहला रामसर साइट घोषित किया गया था ।

Question – विश्व में सर्वाधिक रामसर साइट किस देश में है ?

Answer – विश्व की सर्वाधिक रामसर साइट यूनाइटेड किंगडम में हैं, जहाँ पर इनकी कुल संख्या 175 है।

इस प्रकार से हमने आर्द्रभूमि, उसका महत्त्व, रामसर समझौता तथा भारत के 75 रामसर स्थलों (Ramsar Sites) से सम्बंधित विभिन्न परीक्षाओं के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में पढ़ लिया | मुझे विश्वास है कि यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा|

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment